Subscribe me...

माँ - देखें तो एक शब्द हैं, और जो समझें तो हम निशब्द हैं......

माँ...देखें तो एक शब्द हैं, और जो समझें तो हम निशब्द हैं
Means We have no word to define the greatness of Mother.


Again these are my own words (poem) & I want to dedicate to my mother for making me whatever I am.Whatever I am and Whatever I will be, its just because of my mother.
No more words to define how much my mother matters in my life - 


My Mother is My World... 


तेरे आँचल में शीतलता,
तेरी बाहों में गर्मी माँ,

जब तू पास होती है,
मेरी दुनिया महकती माँ,

मेरे हंसने पर हंसती तू,
मेरे रोने पर रोती माँ,

मैं जब-जब लडखडाया हूँ,
तेरी अंगुली को थामा माँ,

डर से कांपा उठा जब मन,
तू गोदी में सुलाती माँ,

वो मेरा माँ जरा कहना,
और तेरा दौड़कर आना,

भूलकर सारी दुनिया को,
मेरी दुनिया सजाती माँ.....



                             - By Bharat Singh